नई दिल्ली: उत्तराखंड की राजनीति में काफी सियासी घमासान मचा हुआ है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने असम दौरे के बाद उत्तराखंड में अस्थिर सरकार को लेकर एक हाई लेवल बैठक बुलाई है. बताया जा रहा है कि इस बैठक में उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश की जा सकती है. इस वक्त मोदी असम दौरे पर हैं. पीएम के दौरे के बाद ये बैठक होगी. 
 
राष्ट्रपति से मिले BJP नेता
उत्तराखंड के बीजेपी के नेता आज राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से मिले. उन्होंने उत्तराखंड की सरकार को बर्खास्त करने की मांग रखी है. बीजेपी नेताओं मुख्यमंत्री के स्टिंग आपरेशन को भी राष्ट्रपति के सामने रखा. बीजेपी नेताओं ने कहा कि हरिश रावत को सत्ता में एक क्षण भी रहने का अधिकार नहीं है. हमने राज्यपाल को बताया था कि प्रदेश सरकार खरीद-फरोख्त में संलग्न होगी. हमारी समझ में यह नहीं आ रहा है कि विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए इतना समय क्यों दिया गया. 
 
क्या कहा विजयवर्गीय ने?
राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि उत्तराखंड में रावत सरकार अल्पमत में है उन्हें सत्ता में रहने का अधिकार नहीं है. कांग्रेस के विधायक असंतुष्ट हैं और वे मुख्यमंत्री हरीश रावत का नेतृत्व नहीं चाहते हैं. कैलाश विजयवर्गीय ने उत्तराखंड में मुख्यमंत्री हरीश रावत के सौदेबाजी में लिप्त होने के वीडियो को लेकर उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में कांग्रेस अल्पमत में है. भ्रष्टाचार और अन्य कारणों से सीएम को विधायकों का समर्थन प्राप्त नहीं है जबकि बीजेपी के पास विधायकों का समर्थन है.
 
उत्तराखंड में लागू हो राष्ट्रपति शासन
उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुण ने उत्तराखंड सरकार को तुरंत बर्खास्त कर राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की है. बहुगुणा मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ बागियों का नेतृत्व कर रहे हैं. बहुगुणा ने कहा, “मुख्यमंत्री को तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए. अगर वह इस्तीफा नहीं देते हैं तो मैं राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने का आग्रह करता हूं और उसके बाद ताजा चुनाव कराया जाना चाहिए.”
 
क्या है स्टिंग में ?
बताया जा रहा है कि रावत के सामने बैठा शख्स विधायकों की खरीद-फरोख्त की बात कर रहा है. सामने बैठा शख्स बोल रहा है, ‘दो से मंत्री पद की बात हो गई है.’ “कितना कैश… आप देख लें”  
 
जवाब में सीएम रावत कहते है, ‘मैं 5 से ज्यादा नहीं दे सकता.’ फिर सामने बैठा शख्स कहता है, ‘सर 5 आप दे दोगे और 10 मैं व्यवस्था कर लूंगा.’