नई दिल्ली. लीबिया में शुक्रवार को हुई गोलीबारी में केरल निवासी एक नर्स व उसका 18 महीने का बेटा मारा गया है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्विटर पर लिखा, ‘मुझे लीबिया में एक भारतीय नर्स व उसके बेटे की मौत से संबंधित रिपोर्ट मिली है’. उन्होंने कहा, ‘यह त्रिपोली से करीब 45 किलोमीटर दूर जाविया में हुआ’.
 

मूलरूप से केरल की रहने वाली नर्स सुनू सत्यम और उनके बेटे प्रणव की मौत उनके अपार्टमेंट पर एक बम का गोला गिरने से हुई. सुषमा ने कहा कि भारतीय अधिकारी सुनू के पति विपिन के संपर्क में हैं. बता दें कि जाविया अस्पताल में 26 और भारतीय काम कर रहे हैं.
 

सुषमा ने विदेशों में संघर्षग्रस्त क्षेत्रों में रहने वाले भारतीयों से सुरक्षित स्थानों का रुख करने के लिए भी कहा. उन्होंने कहा, ‘हम पहले भी कई बार सलाह दे चुके हैं. मैं आपसे एक बार फिर अनुरोध करती हूं कि कृपया संघर्षरत क्षेत्रों से बाहर निकल आएं’.
 
केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने कहा है कि उनका कार्यालय लीबिया के ताजा हालात के बारे में पता लगाने के लिए लोगों से संपर्क करने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने बताया कि इस मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बात चल रही है और केंद्र सरकार से मदद मांगी गई है.
 
मुख्यमंत्री के एक सहयोगी ने कहा, ‘हमने केंद्र सरकार से शवों और लीबिया में काम कर रहे करीब 15 केरलवासियों को वापस लाने का अनुरोध किया है. वहां उथल-पुथल जारी है’.
 
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी से वादा किया कि उनका मंत्रालय लीबिया में गोलाबारी में मारी गईं भारतीय नर्स व उनके नवजात बेटे के शव को केरल वापस लाने में पूरी मदद करेगा.