नई दिल्ली. रेलमंत्री सुरेश प्रभु की बजट में की गई घोषणाओं के मद्देनजर वरिष्ठ नागरिकों के आरक्षण कोटे और माल माड़े में 50 फीसदी तक बढ़ोतरी की है और अब ट्रेन में उनके लिए करीब 90 सीटें आरक्षित होंगी. रेलवे बोर्ड के सदस्य मुहम्मद जमशेद ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों का कोटा 50 फीसदी बढ़ा दिया गया है और यह एक अप्रैल से प्रभावी हो जाएगा. जमशेद ने कहा कि इसकी घोषणा रेल मंत्री ने बजट में इसकी घोषणा की थी. 
 
मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि 45 साल और इससे अधिक उम्र की महिलाएं और गर्भवती महिलाएं जब अकेले यात्रा कर रही हों तो वैसी महिलाओं के लिए शयनयान श्रेणी, एसी-दो और एसी-तीन की प्रत्येक बोगी में दो नीचे की सीटें आरक्षित रहेंगी. साल 2015 में शयनयान श्रेणी की प्रत्येक बोगी में दो नीचे वाली सीटों का जो कोटा था उसे बढ़कर चार कर दिया गया था. बाद में ‘केवल तभी जब अकेले यात्रा कर रही हो’ वाली शर्त को भी शिथिल कर दिया गया था.
 
यह कहा गया है कि फिलहाल यह कोटा उपलब्ध है जिसमें एक ही आवेदन पर दो यात्री जिनमें एक वरिष्ठ नागरिक या 45 साल से अधिक उम्र की महिला या गर्भवती महिला हो तो इसका लाभ ले सकते हैं. इस कोटे को बढ़ाकर शयनयान श्रेणी में छह नीचे की सीटें और एसी-दो और एसी-तीन में तीन नीचे की सीटें कर दिया गया है.