नई दिल्ली. दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने दिल्ली डायलॉग कमिशन के सदस्य सचिव आशीष जोशी को हटा दिया है.  पार्टी का कहना है कि जोशी गुटखा चबाते हैं और सिगार पीते हैं. दिल्ली सरकार ने अनुरोध किया है कि जोशी को उनके पुराने काडर में वापस भेज दिया जाए. जोशी इंडियन पोस्ट ऐंड टेलिकॉम अकाउंट्स ऐंड फाइनैंस सर्विस के अधिकारी हैं और डेप्युटेशन पर दिल्ली सरकार में कार्यरत थे.

इस बारे में दिल्ली सरकार टेलिकॉम सचिव को पत्र लिखा था. इस पत्र के साथ दिल्ली डायलॉग कमिन के उपाध्यक्ष आशीष खेतान का मुख्यमंत्री केजरीवाल को लिखा नोट भी था जिसमें बताया गया था कि जोशी को दफ्तर में कई मौकों पर सिगार पीते या गुटखा चबाते पाया गया. पत्र अप्रैल के आखिर में लिखा गया था. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक खेतान ने अपनी शिकायत में लिखा, ‘दफ्तर में गुटखे और सिगार से परहेज करने के विनम्र अनुरोध के बावजूद जोशी ने ऐसा करना जारी रखा. यह मेरे लिए काफी शर्मिंदगी भरा था जब एक अहम बैठक में जोशी सबके सामने बैठकर गुटखा चबा रहे थे.’

इस बारे में जोशी की सफाई है कि वह दफ्तर के भीतर ऐसा कभी नहीं करते. इंडियन एक्सप्रेस को उन्होंने बताया, ‘मैं कभी-कभार पान-पराग चबाता हूं और सस्ते सिगार भी पी लेता हूं, लेकिन ऑफिस के भीतर कभी नहीं. मुझे तरस आता है कि एक महीने की सिरखपाई के बाद वे मेरे ऊपर सिर्फ गुटखा चबाने का इल्जाम लगा पाए.’

वैसे आशीष खेतान की शिकायत यह भी है कि जोशी उनकी इजाजत के बिना मीडिया से बात करते हैं. अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने अपने पत्र में इसका जिक्र किया है. उन्होंने लिखा है, ‘मेरे विनम्र अनुरोध के बावजूद जोशी ने बिना सही इजाजत लिए मीडिया को सूचनाएं दीं और कई बार तो बिना पहले पूछे मीडिया के अपने दोस्तों को चैंबर में भी बुला लिया.’