नई दिल्ली. दिल्ली की एक अदालत ने पुलिस से पूछा कि ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलीमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख अदादुद्दीन ओवैसी के खिलाफ दर्ज आपराधिक शिकायत में क्या कार्रवाई की गई. ओवैसी के खिलाफ राजद्रोह के अलावा विभिन्न वर्गो के बीच शत्रुता फैलाने की पुलिस में शिकायत की गई है. अदालत ने पुलिस से कहा कि वह 7 मई तक कार्रवाई रिपोर्ट दाखिल करे. 
 
शिकायत में आरोप लगाया गया है कि ओवैसी ने 13 मार्च को एक रैली में कहा था, “अगर कोई मेरे गले पर चाकू भी रख दे तो मैं भारत माता की जय नहीं बोलूंगा.” और ओवैसी के इस कथन से असंतोष और देशद्रोह के अलावा शत्रुता की भावना भी है. 
 
शिकायतकर्ता ने अदालत से करावल नगर पुलिस थाने के प्रमुख को ओवैसी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124ए (राजद्रोह) और 153ए (विभिन्न समूहों, धर्मो या जातियों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना) के तहत एफआईआर दर्ज करने का निर्देश देने की मांग की है.