नई दिल्ली. उत्तराखंड में राजनीतिक संकट पर आज कांग्रेस के नेताओं ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की. मामले में पार्टी के नेताओं ने राष्ट्रपति को उत्तराखंड में चल रहे हालातों पर जानकारी दी.
 
कांग्रेस का मानना है कि बीजेपी उत्तराखंड में एक राजनीतिक संकट बना रही और कांग्रेस नहीं चाहती कि उत्तराखंड में अरुणाचल जैसे हालात बन जाए. कांग्रेस नेताओं ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा केंद्र सरकार के साथ मिलकर राज्य की रावत सरकार को अस्थिर कर रही है. 
 
कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल में राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, पूर्व केंद्रीय मंत्री ए के एंटनी, कपिल सिब्बल तथा अंबिका सोनी शामिल थीं. इस बीच गुलाम नबी आजाद ने कहा कि केंद्र सरकार अपनी ताकत का दुरुपयोग कर रही है साथ ही बीजेपी ने हमारे 26 विधायकों को बंधी बना रखा है.
 
राज्यपाल ने भेजी केंद्र रिपोर्ट
मामले में राज्यपाल के के पॉल ने विधानसभा की रिपोर्ट केंद्र को भेजी है साथ-साथ विधानसभा की कार्यवाही की सीडी भी भेजी है. रिपोर्ट में राज्यपाल ने लिखा है कि विधानसभा में विनियोग विधेयक पर चर्चा के बाद विपक्ष की तरफ से वोटिंग की मांग को विधानसभा अध्यक्ष ने ठुकरा दिया था. साथ ही राज्यपाल ने 35 विधायकों की राजभवन में परेड की CD भी रिपोर्ट के साथ भेजी है.