नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के विज्ञान भवन में अंबेडकर मेमोरियल के कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि मैं बाबा साहब अंबेडकर का भक्त हूं. उन्होंने कहा कि आरक्षण यथास्थिति बरकरार रहेगा. उन्होंने कहा कि बाबा साहब का भक्त सत्ता में आ गया है इसलिए मेरा विरोध हो रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि बाबा साहब ने जो साठ साल पहले सोचा वह आज भी लोगों की सोच से कहीं आगे हैं. उन्होंने कहा कि आरक्षण को लेकर किसी भी तरह का संशय नहीं होना चाहिए. ‘पर ड्राप मोर क्रॉप’ आरक्षण को लेकर लोगों में भ्रम पैदा किया जा रहा है.

मोदी ने कहा कि आरक्षण यथास्थिति बरकरार रहेगा. संसद में मैरीटाइम बिल को लेकर बोलते हुए कहा कि हमारी सरकार समुद्री ताकत को पहचानते हुए उसमें कई तरह की शुरुआत करने जा रही है.

उन्होंने कहा कि यह बाबा साहब की सोच थी जो आज साठ साल बाद मैं करने जा रहा हूं. बाबा साहब को अगर सत्ता में और मौका मिला होता तो उन्होंने समुद्री ताकत को भारत के पक्ष में कहीं आगे बढ़ा दिया होता. उन्होंने कहा कि बाबा साहब का कोई भक्त अगर सरकार में आता है तो कैसे काम होता है यह नजर आता है.

वहीं गरीबों और दलितों के बारे में बोलते हुए पीएम ने कहा कि बीमारियो से निपटने का स्थायी समाधान बाबा साहब ने दिया था. बाबा साहब ने कहा था कि एक बार आप शिक्षित होंगे तो आप दुनिया से आंख से आंख मिलाकर बात कर सकेंगे.

मोदी ने कहा कि बाबा साहब ने आपकी आंतरिक उर्जा को जगाने के लिए उन्होंने रास्ता दिया था. बाबा साहब ने शिक्षित बनों, संगठित बनो और मानवता के पक्ष में संघर्ष करो, अमानवीय चीजों के खिलाफ आवाज उठाओ वैश्विक संदेश दिया था.