नई दिल्ली. लातेहार में दो मुस्लिम पशु व्यापारियों की हत्या कर पेड़ में लटकाने के मामले में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. आजाद ने मोदी से कहा है कि झारखंड के लातेहर में हुई घटना अल्पसंख्यक समुदाय के साथ की गई शर्मनाक घटना है. उन्होंने कहा है कि राजनीति के नाम पर सांप्रदायिक घटनाओं में हो रही घटनाओं से पूरा देश चिंतित है. 
 
आजाद ने अपने दो पन्नों के खत में लिखा, ‘मैं बहुत निराशा के साथ यह कहने को विवश हूं कि जघन्यता और भीड़ की हिंसा के ऐसे घटनाक्रम दुनिया के उन कुछ हिस्सों की झलक देते हैं जहां लोकतंत्र नहीं है. ये भारत की घटनाएं नहीं दिखाई देती जहां कानून के शासन से संचालित एक जीवंत और धर्मनिरपेक्ष लोकतंत्र का व्यापक सम्मान होता है’. 
 
उन्होंने इस घटना के खिलाफ कड़ी कार्यवाई करने कि मांग करते हुए कहा, ‘लोकतंत्र की बहुसंख्यकवादी राय सावधानीपूर्वक और जानबूझ कर पैदा की जा रही है. लोकतंत्र, बहुलवाद, सामाजिक समरसता और शांति पर गंभीर असर पडा है तथा देश का विकास भी प्रभावित हुआ है.’ 
 
 
आजाद ने गोहत्या पर बात करते हुए कहा कि देश के ज्यादर राज्यों में गोहत्या प्रतिबंधित है. ऐसे में एक जगह से दूसरे जगह जानवरों के सामान्य व्यापार और आवाजाही को निशाना नहीं बनाया जाना चाहिए.
 
उन्होंने आगे कहा, ‘वोट बैंक की राजनीति के नाम पर जो सांप्रदायिक हिंसा और अविश्वास पैदा हो रहा है. उससे पूरा देश चिंतित है. इस पर तुरंत लगाम लगाने की जरूरत है’
 
बता दें कि बीते शुक्रवार झारखंड के लातेहार जिले में सुबह दो मुस्लिम पशु व्यापारियों का शव पेड़ पर लटका पाया गया था.