लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपनी सरकार के अफसरों से कहा है कि अफसरों पर कार्रवाई से जनता खुश होती है और हमारा वोट बढता है. मगर हम अफसरों से प्यार से काम लेना चाहते हैं. 
 
मुख्यमंत्री ने यह बात आईएएस सप्ताह में अफसरों को संबोधित करते हुए कही. उन्होंने अफसरों से कहा, ‘जब आप पर कार्रवाई होती है, तब जनता खुश होती है. वोट बढ़ता है. फिर भी हम प्यार से काम ले रहे हैं. जबकि हमारा तो इम्तिहान जनता लेती है. समय भी करीब है. फेल हुआ तो आप जिम्मेदार होंगे’.
 
अखिलेश ने इस मौके पर अपनी सरकार के विकास के एजेंडे पर बात करते हुए कहा कि सरकार का पांचवा साल चल रहा है और विकास एजेंडे को इसी साल पूरा करना है. उन्होंने इस अवसर पर चालू वित्त वर्ष के लिए सरकार के विकास एजेंडे का लोकार्पण भी किया.
 
उन्होंने यह भी कहा कि अच्छा काम करने वाले अफसर पुरस्कृत किए जाएंगे. कानून-व्यवस्था को लेकर विपक्षी दलों के हमलो का शिकार होते रहे मुख्यमंत्री ने कहा कि दूसरे राज्यों के आंकडे देख लें. उनके मुकाबले उत्तर प्रदेश में अपराध कम है. 
 
अखलेश ने संवाददाताओं से की गई बातचीत में मीडिया में चल रहे उत्तर प्रदेश विधानसभा के 2017 के सर्वे की खिल्ली उड़ाते हुए कहा कि चुनाव दूसरे प्रदेशों में हो रहा है लेकिन सर्वे यूपी के बारे में, यहां तो चुनाव में अभी एक साल बाकी है.
 
उन्होंने किसी दल का नाम लिए बगैर विपक्षी पार्टियों पर तंज कसते हुए कहा कि कई पार्टियों के पास दूल्हा ही नहीं है. मेरे पास तो कमियां दूर करने के लिए एक साल का मौका है. अखिलेश ने कहा कि आलोचना करने वाले भी होने जरूरी है क्योंकि इससे कमियां दूर करने का मौका मिलता है.
 
आाईएएस सप्ताह समारोह को सरकार और अधिकारियों के बीच अनुभव साझा करने के लिए एक अच्छा अवसर बताते हुए मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार की विभिन्न योजनाओं और उपलब्धियों का जिक्र किया। साथ ही यह भी कहा कि जनता अपने लाभ को समझती है और विरोधियों एवं सर्वे के बहकावे में आने वाली नहीं है.
 
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर अपने आवास पर आईएएस अधिकारियों के लिए एक भोज का आयोजन किया. 20 मार्च को सीएम इलेवन और आईएएस इलेवन के बीच एक क्रिकेट मैच भी खेला जायेगा.