नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को एक अदालत को बताया कि ‘आप’ नेता कुमार विश्वास के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की गई है. उनके खिलाफ पार्टी की एक कार्यकर्ता ने यौन उत्पीड़न और शील भंग करने का आरोप लगाया है.

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पंकज शर्मा के निर्देशों के मुताबिक सरोजनी नगर पुलिस थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है. शर्मा ने पाया कि आरोपी ने यौन संकेतों वाली टिप्पणी की थी और शिकायतकर्ता को रिझाने का प्रयास किया था, जिसकी पुलिस जांच की जरूरत है.

पुलिस ने अपनी अनुपालन रिपोर्ट में कहा है कि अदालत के आदेश के कुछ घंटों बाद बुधवार को मामला दर्ज कर लिया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने आईपीसी की धारा 354 ए (यौन उत्पीड़न) और 509 (एक महिला का शील भंग करने के इरादे से शब्द, हावभाव या हरकत) के तहत प्राथमिकी दर्ज की है.

प्राथमिकी में शिकायतकर्ता ने विश्वास पर यौन संकेतों वाली टिप्पणी करने और उन्हें रिझाने की कोशिश करने का आरोप लगाया है. साथ ही, उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि विश्वास उनका शरीरिक शोषण करने की कोशिश कर रहे थे.

अदालत ने ‘आप’ कार्यकर्ता की याचिका पर बुधवार को प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया था. साथ ही पुलिस को इस बात की छूट दी कि वह जांच में जरूरत पड़ने पर विश्वास को गिरफ्तार करे.