नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने सिख समुदाय पर बनने वाले जोक्स संबंधी याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि इस तरह के जोक्स पर रोक लगना चाहिए.
 
कोर्ट ने कहा है कि अगर कोई बिजनेस के लिए जोक्स का इस्तेमाल करता है तो उसपर तत्काल रोक लगाई जानी चाहिए. मुख्य न्यायधीश तीर्थ सिंह ठाकुर ने कहा कि हम तय करेंगे कि कानून के दायरे में किसको कहां तक रोका जा सकता है.
 
इस बाबत कोर्ट ने याचिका डालने वाले शिरोमणी गुरुद्वारा कमेटी से सुझाव भी मांगे है कि इस तरह के जोक्स पर किस तरह से रोक लग सकती है?
 
बता दें कि शिरोमणि गुरुद्वारा कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर जोक्स पर रोक की मांगी की है. मामले की सुनवाई के दौरान कमेटी ने कहा जोक्स के आधार पर हमारे समुदाय की एक गलत तस्वीर दुनिया के सामने पेश की जा रही है जिसका असर कहीं न कहीं हमारी नौकरियों और व्यवसाय पर भी पड़ता है.