नई दिल्ली. जनता दल यूनाइटेड (JDU) के अध्यक्ष शरद यादव का कहना है कि देशद्रोह के कानून से देश का बंटवारा हो सकता है इसलिए इस कानून को खत्म कर देना चाहिए. उन्होंने यह बात ट्विटर के जरिए कही. 
 
शरद ने ट्वीट कर कहा, ‘देशद्रोह का कानून अंग्रेजी शासनकाल में लागू किया गया था. इसका छात्रों और युवाओं पर प्रयोग करने से देश बंट जाएगा’.
 
पिछले कुछ दिनों से देशद्रोह के कानून के ऊपर काफी बहस चल रही है. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी परिसर से कुछ छात्रों को देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. जिसके बाद से ही इस विषय ने काफी तूल पकड़ लिया है.