अहमदाबाद. गुजरात के आणंद जिले के पंडोली गांव के युवकों को नौकरी का झांसा देकर किडनी निकालने का मामला सामने आया है. पुलिस को दिए अपने बयान में युवकों ने बताया कि नौकरी और लाखों का रुपयों का लालच देकर उन्हें दिल्ली ले जाया जाता था और नशीली दवा पिलाकर किडनी निकाल ली जाती थी.
 
पुलिस ने खुलासा किया है कि किडनी खरीदने वाला गिरोह दिल्ली से लेकर श्रीलंका तक फैला हुआ है. किडनी खरीदने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह को अरेस्ट करने के लिए पुलिस की कई टीमें लगी हुई हैं. पुलिस ने यह भी दावा किया है कि गिरोह के कुछ सदस्यों की पहचान कर ली गई है और उन्हें जल्द ही अरेस्ट कर लिया जाएगा.
 
बता दें कि पंडोली गांव से युवक अचानक गुम हो जाते थे. इसके बाद दिल्ली और अन्य शहर ले जाकर इनकी किडनी निकाल ली जाती थी. फिर कुछ समय बाद उन्हें गांव वापस भेज दिया जाता था. डीएसपी एमआर गुप्ता के अनुसार फिलहाल पंडोली गांव के ऐसे 13 युवकों की पहचान कर ली गई है, जिनकी किडनी निकाल ली गई है और आशंका है कि ऐसे युवाओं की संख्या 80 तक हो सकती है.