नई दिल्ली. बहुजन समाज पार्टी(बसपा)की प्रमुख मायावती ने मंगलवार को पार्टी के संस्थापक कांशीराम को देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न देने की मांग की. मायावती ने राज्यसभा में कहा, “मैं आज कांशीराम के जन्मदिवस के मौके पर सरकार से अनुरोध करती हूं कि उन्हें गरीब और सामाजिक रूप से पिछड़े लोगों के उत्थान के लिए दिए उनके योगदान के लिए सम्मानित किया जाए. सरकार को उन्हें भारत रत्न से सम्मानित करना चाहिए.” उन्होंने कहा, “माननीय कांशीराम ने कमजोर वर्ग के लोगों को उनके पैरों पर खड़े करने में मदद करने के लिए जीवनर्पयत काम किया.”  
 
उन्होंने कहा कि समाज के लिए किए गए उनके बलिदान को याद किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि जो दल आज कांशीराम जी के बारे में बात कर रहे हैं, वे ही आरक्षण के विरोधी थे. उन लोगों ने ही उनके विचारों का विरोध किया था. मायावती ने पार्टी संस्‍थापक के जन्मदिन पर छपे दिल्ली सरकार के विज्ञापन पर सवाल उठाते हुए कहा कि कांग्रेस, बीजेपी और अन्य दल अंबेडकर और कांशीराम की जयंती सिर्फ वोट लेने के लिए मनाती हैं.
 
मायावती ने कहा, बीजेपी अंबेडकर जयंती पर क्या क्या नाटक कर रही है. एक तरफ किस्म किस्म के कार्यक्रम करती है. बाबा साहेब के आरक्षण को लेकर डबल माइंड है. RSS आरक्षण को लेकर कुछ न कुछ कहता रहता है.