नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में यमुना किनारे श्री श्री रविशंकर के प्रोग्राम वर्ल्ड कल्चरल फेस्टिवेल को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने आर्ट ऑफ लिविंग पर जुर्माना लगाया है. इस बीच रविशंकर ने जुर्माने की रकम देने से इन्कार कर दिया है और उन्होंने कहा है कि कि वे जेल भी जाने को तैयार हैं.
 
एनजीटी ने दी डेडलाइन
 
मामले की सुनवाई करते हुए एनजीटी ने आर्ट ऑफ लिविंग संस्था को जुर्माने की रकम चुकाने के लिए एक दिन का समय दिया है. एनजीटी ने संस्था से कहा है कि वो जुर्माने की रकम 5 करोड़ रुपये जमा करा दें नहीं तो महोत्सव की इजाजत रद्द कर दी जाएगी. एनजीटी ने डीडीए के वकील से पूछा कि क्या जुर्माने की रकम मिल गई है. 
 
एनजीटी ने लगाया जुर्माना
भले ही एनजीटी ने रविशंकर के 11 से 13 मार्च तक होने वाले महोत्वस को मंजूदी दे दी हो लेकिन पूरे प्लान का खुलासा न करने पर एनजीटी ने रविशंकर के आर्ट ऑफ लिविंग पर 5 करोड़ का बड़ा जुर्माना लगाया.