पटना. जेएनयू के छात्र नेता कन्हैया कुमार के दादा ने दो लोगों के खिलाफ अदालत में परिवाद पत्र दाखिल किया. इन दोनों ने कन्हैया की जीभ काटने और उसे जान से मारने पर इनाम देने की घोषणा की है. एक सरकारी वकील ने इसकी जानकारी दी. अदालत बुधवार को इस मामले की सुनवाई करेगी. 
 
कन्हैया के दादा बालकृष्ण सिंह ने बेगुसराय जिले के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष यह मामला दायर किया है. इसमें बदायूं के भारतीय युवा मोर्चा के नेता कुलदीप वाष्र्णेय और पूर्वाचल सेना के अध्यक्ष आदर्श शर्मा को आरोपी बनाया गया है. याचिकाकर्ता ने अपने पोते को न्याय दिलाने के लिए अदालत से गुहार लगाई है और उन दोनों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. कन्हैया कुमार के खिलाफ दिल्ली की अदालत में राष्ट्रद्रोह का मामला चल रहा है. 
 
वाष्र्णेय ने पिछले हफ्ते कथित रूप से कन्हैया का जीभ काटने पर 5 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की थी, जबकि शर्मा ने कन्हैया की हत्या करने वाले को 11 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की थी. शर्मा को इस मामले में दिल्ली पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार किया जबकि वाष्र्णेय को भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से 6 सालों के लिए सस्पेंड कर दिया गया है. कन्हैया कुमार बिहार के बेगुसराय जिले के बीहट गांव के निवासी हैं.