नई दिल्ली. नासिक के त्र्यंबकेश्वर मंदिर के गर्भगृह में महिलाओं के प्रवेश के अधिकार की मांग पर अड़ी भूमाता ब्रिगेड की अध्यक्ष तृप्ति देसाई को आज एक बार फिर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. इससे पहले सोमवार को भी मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश की कोशिश में तृप्ति को हिरासत में लिया गया था.

भूमाता ब्रिगेड त्र्यंबकेश्वर मंदिर के गर्भगृह में जाकर सदियों पुरानी परंपरा को तोड़ना चाहती है. जबकि मंदिर प्रशासन इसकी इजाजत नहीं दे रहा. इससे पहले शनि शिंगणापुर में भी महिलाओं के प्रवेश को लेकर तृप्ति देसाई ने आंदोलन छेड़ा था.

तृप्ति देसाई का कहना है कि ये परंपरा महिलाओं के लिए क्यों है, ये महिलाओं के हक की लड़ाई है. वहीं सनातन संस्था, हिंदू जनजागृति संस्थान सहित कुछ और हिंदूवादी संगठन का कहना है कि तृप्ति देसाई ड्रामा कर रही हैं, धर्म के साथ खिलवाड़ कर रही हैं. वह परंपरा के नाम पर पब्लिसिटी चाहती हैं.

तृप्ति देसाई के नेतृत्व वाले इस संगठन ने 26 जनवरी को अहमदनगर जिले के शनि शिंगनापुर मंदिर में लागू ऐसे ही प्रतिबंध को तोड़ने का हंगामेदार प्रयास किया था. तृप्ति ने लैंगिक न्याय के इस अभियान को जारी रखने का संकल्प लिया था. फिलहाल हालात को देखते हुए मंदिर परिसर और आस पास के इलाके में पुलिस ने खास बंदोबस्त किए हैं.