नई दिल्ली. देश में 10 आतंकवादियों के घुसे हो सकने की खुफिया सूचना के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह आज महत्वपूर्ण बैठक करेंगे. यह बैठक गृह मंत्रालय में होने जा रही है. इसमें रॉ और आईबी के चीफ के अलावा आला अधिकारियों के शामिल होने की बात कही जा रही है.

आतंकी खतरे की आशंका के चलते राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. वहीं दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था चाकचौबंद कर दी गई है. सीसीटीवी के जरिए सख्त नजर रखी जा रही है.

सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि आतंकी सोमवार को महाशिवरात्रि के मौके पर वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं. सूत्रों के मुताबिक सुरक्षा एजेंसियों ने गुजरात के रास्ते भारत में दाख़िल हुए 10 आतंकियों के दिल्ली तक पहुंचने की आशंका जताई है.

सूत्रों की मानें तो एक बड़े हमले की योजना के साथ आतंकी दिल्ली में घुस चुके हैं और मॉल या बाज़ारों पर हमला कर सकते हैं. पुलिस को भीड़ भाड़ वाले इलाकों में सुरक्षा कड़ी करने का आदेश दे दिया गया है. सुरक्षा एजेंसियों से मिली ताज़ा चेतावनी के मुताबिक आतंकवादियों का संबंध लश्कर-ए-तैयबा या जैश-ए-मोहम्मद से भी हो सकता है.

खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली पुलिस को अलर्ट जारी कर कहा है कि जिन आतंकियों ने गुजरात के रास्ते घुसपैठ की है वे दिल्ली में भी बड़ा आतंकी हमला कर सकते हैं. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक 10 आतंकियों का यह दस्ता आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए तैयबा से जुड़ा है.

दिल्ली में उनके निशाने पर सैन्य ठिकाने, ऐतहासिक इमारतें, मॉल्स, भीड़भाड़ वाले बाजार, हॉस्पिटल,स्कूल और कॉलेज आदि हैं. इन तमाम स्थानों पर अतिरिक्त सुरक्षा बढ़ाने को कहा गया है. यह भी कहा गया है कि सीसीटीवी कैमरों से सभी संवेदनशील जगहों की निगरानी की जाए.