नई दिल्ली. देश के पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने अपने बेटे कीर्ति पर लगाए जा रहे आरोपों को गलत बताया और कहा कि कार्ति को इसलिए निशाना बनाया जा रहा है, क्योंकि वह मेरे पुत्र हैं, लेकिन वास्तविक निशाना मैं हूं. चिदंबरम ने इन आरोपों को दुर्भागयपूर्ण बताया और कहा कि कीर्ति के पास विदेशों में अघोषित संपत्ति है यह एक झूठ है.
 
चिदंबरम ने यह भी कहा कि यदि सरकार यह मानती है कि कार्ति के पास कथित अघोषित सम्पत्ति है, तो उनके बेटे ऐसी सम्पत्ति को एक रुपये की नाममात्र की कीमत पर हस्तातंरित करने के लिए स्वेच्छा से किसी भी दस्तावेज को तैयार कर दे देंगे.
 
अगर ऐसा है तो कराए जांच
कीर्ति पर आरोप है कि उन्होंने विश्व भर में रियल इस्टेट में निवेश किया हु्आ है जिस पर तीखा विरोध करते हुए चिदंबरम ने कहा कि यदि सरकार को लगता है कि कार्ति के पास अघोषित सम्पत्ति है तो मैं सरकार से कहूंगा कि वह ऐसी कथित अघोषित सम्पत्ति की एक सूची बनाए. 
 
कार्ति चिदंबरम ऐसी सम्पत्ति (कथित तौर पर अघोषित) का अंतरण मात्र एक रुपये में उसे करने को तैयार हैं और इसके लिए यदि कोई दस्तावेज की जरूरत होगी तो वह स्वैच्छिक रूप से तैयार कर दे देंगे. सरकार को कथित अघोषित सम्पत्ति का मालिक बनने दीजिए.
विरासत में मिली है संपत्ति  
उन्होंने कहा कि कार्ति विरासत में मिली सम्पत्ति के प्रबंधन के अलावा एक वैध व्यवसाय चलाते हैं. उन्होंने कहा कि कार्ति कई सालों से टैक्स रिटर्न भर रहे हैं. उन्होंने कहा कि कार्ति ने विधिवत एवं नियमित रूप से प्रत्येक वर्ष अपना टैक्स रिटर्न दाखिल किया है, जिसमें सम्पत्ति एवं देनदारियों के विवरण रहे हैं. आयकर विभाग ने निर्धारण वर्ष 2013-14 तक निर्धारण पूरा किया है.