कोलकाता. चुनाव आयोग द्वारा विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने ऐलान किया है कि आगामी विधानसभा चुनाव उनकी पार्टी अकेले लड़ेगी. उन्होंने कहा है कि तृणमूल कांग्रेस बिना किसी पार्टी के साथ गठबंधन किए अकेले चुनाव लड़ेगी. कांग्रेस और टीएमसी ने साल 2011 में साथ में चुनाव लड़ा था.
 
चुनाव तारीखों की घोषणा के तुरंत बाद उम्मीदवारों की सूची जारी करते हुए ममता ने संवाददातोओं को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि टीएमसी साल 2011 से सत्ता में है और उसने राज्य के विकास को ध्यान में रखते हुए ही अपना काम किया है. जनता पिछले पांच साल के कामों को दखते हुए अपना फैसला करेगी.  
 
ममता ने कांग्रेस और माकपा पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘जहां पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और माकपा साथ में चुनाव लड़ रही हैं तो वहीं केरल में एक दूसरे के खिलाफ चुनावी मैदान में उतर रही हैं. क्या यह दोहरी राजनीति नहीं है’. उन्होंने आगे कहा कि वह केरल जाना चाहती हैं और वहां की जनता को कांग्रेस और माकपा का असली चेहरा दिखाना चाहती हैं.
 
बता दें कि पश्चिम बंगाल में चुनाव 4 अप्रैल से 16 मई के बीच 43 दिनों में 6 चरणों में होने वाले हैं. राज्य में कुल 295 विधानसभा सीटें हैं.