नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरु छात्रसंघ अध्यक्ष आज जेल से रिहा हो गया है. रिहा होने के बाद कन्हैया सीधे जेएनयू परिसर में पहुंचा जहां छात्रों ने उसके स समर्थ में मार्च निकाला. इस बीच कन्हैया ने छात्रों के बीच भाषण दिया. कन्हैया ने कहा कि साथ देने के लिए पूरे देश को सलाम.
 
कन्हैया ने इन्काब और सांमतवाद के खिलाफ नारेबाजी की साथ ही भारत माता की जय के भी नारे लगाए. साथ ही कन्हैया ने पीएम मोदी पर तंज लगाए.
 
एबीवीपी को लिया आड़े हाथ
रिहाई के बाद अपने मार्च में भाषण देते हूए कन्हैया ने अखिल भारतीय हिूंदू परिषद ( एबीवीपी) को आड़े हाथ लिया. कन्हैया ने कहा कि एबीवीपी पानी पानी हो गई है. कन्हैया ने आगे कहा कि हम लोकतंत्र में विश्वास रखते है इसलिए एबीवीपी को एक विपक्ष की तरह ही देखते हैं. 
 
जवानों को किया सलाम
कन्हैया ने अपने भाषण में सीमा पर लड़ रहे जवानों को सलाम किया. कन्हैया ने कहा कि किसान का बेटा फौज में ही जाता है इसलिए सीमा पर लड़ रहे जवानों को सलाम.
 
हाईकोर्ट से मिली जमानत
जेएनयू परिसर में कथित तौर पर भारत-विरोधी नारे लगाने के चलते देशद्रोह के मामले में गिरफ्तार जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को छह महीने की अंतरिम जमानत मिल गई है.
 
दिल्ली हाईकोर्ट की न्यायमूर्ति प्रतिभा रानी ने कन्हैया को 10 हजार रुपये का निजी मुचलका जमा करने के लिए कहा. जानकारी के अनुसार कन्हैया की रिहाई कल यानि गुरुवार को हो सकती है.
 
क्या है मामला ?
9 फरवरी को जेएनयू में द ‘कंट्री विदाउट ए पोस्ट ऑफिस’ नाम से एक विरोध मार्च का आयोजन किया गया था. जेएनयू के गंगा ढाबा से शुरू हुए इस विरोध मार्च में आतंकी अफजल गुरु और मकबूल भट की फांसी को न्यायिक हत्या बताया गया. इस दौरान आतंकियों के समर्थन और कश्मीर को भारत से अलग करने की मांग को लेकर नारेबाज़ी की गई.