नई दिल्ली. देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किए गए दिल्ली यूनिवर्सिटी के पूर्व प्रोफेसर एस.ए.आर गिलानी की न्यायिक हिरासत गुरुवार को 16 मार्च तक बढ़ा दी गई. गिलानी की 14 दिन की न्यायिक हिरासत पूरी हो गई थी. वह गुरुवार को एक अदालत में पेश किए गए. सुरक्षा कारणों की वजह से सुनवाई एक अज्ञात जगह पर रखी गई थी.
 
क्या है मामला?
 
आरोप है कि कश्मीरी प्रोफेसर गिलानी ने नौ फरवरी को संसद हमले के दोषी अजफल गुरु की बरसी के मौके पर दिल्ली में प्रेस क्लब में एक कार्यक्रम का आयोजन किया था. अफजल गुरु को नौ फरवरी, 2013 को फांसी दे दी गई थी. पुलिस ने 10 फरवरी को देशद्रोह का मामला दर्ज कर गिलानी को गिरफ्तार कर लिया था.
 
पुलिस का आरोप है कि उस कार्यक्रम में कश्मीरी छात्रों के एक समूह ने देशविरोधी नारे लगाए थे. पुलिस का कहना है कि गिलानी पर इसलिए मामला दर्ज किया गया क्योंकि उन्हें समारोह का मुख्य आयोजक माना गया है.