नई दिल्ली. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई मामले में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि हत्यारों की रिहाई पर फैसला केंद्र को करना है. उन्होंने कहा कि वो इस मामले में अपनी व्यक्तिगत राय नहीं बताएंगे.

वहीं लोकसभा में कांग्रेस नेता मलिका अर्जुन खड़गे ने कहा है कि दोषियों की रिहाई नहीं होनी चाहिए. खड़गे का कहना है कि राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई से बुरा कुछ नहीं हो सकता.

बता दें कि राजीव गांधी के हत्यारों को छोड़ने के लिए तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र लिखा है. पत्र में कहा गया है कि इन हत्यारों ने 24 साल से ज्यादा सजा काट ली है. मानवीय आधार पर इन तथ्यों को देखते हुए उन सबको अब रिहा कर देना चाहिए.