नई दिल्ली. इशरत जहा मामले पर संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा हुआ इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा ‘चिदंबरम ने पहले ही कहा है कि हम पर इसलिए निशाना साधा जा रहा है, क्योंकि हम सत्ता में थे’

इशरत मामले पर बीजेपी के भूपेंद्र यादव ने राज्यसभा में ध्यानाकर्षण प्रस्ताव दिया है. यह नोटिस इशरत केस में नई जानकारियों पर दिया गया है. उस समय मुंबई के ज्वाइंट कमिश्नर रहे सत्यपाल ने बताया कि हेडली ने साफ बताया था कि इशरत लश्कर की आतंकी है.

सत्यपाल ने कहा कि जब मैंने एनआईए और भारत सरकार से इस स्टेटमेंट को मांगा तो गृहमंत्रालय की ओर से साफ किया गया कि अमेरिका से करार है, हेडली का बयान किसी को नहीं देना है.

वहीं, बीजेपी ने गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘फंसाने’ की मंशा से इशरत जहां ‘फर्जी’ मुठभेड़ मामले में पिछली संप्रग सरकार के ढुलमुल रवैये के मुद्दे पर कांग्रेस के कई शीर्ष नेताओं को आड़े हाथ लिया. बीडेपी ने मांग की कि इस मामले में तत्कालीन केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम सहित कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेताओं की भूमिका की जांच होनी चाहिए.