नई दिल्ली. 19 मार्च को हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में भारत-पाक वर्ल्ड टी20 मैच में संकट के बादल गहराते जा रहे हैं. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने केंद्र सरकार से इस मैच को रद्द करने या किसी अन्य जगह में आयोजित करने की सिफारिश की है. उन्होंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर यह बात कही है. ऐसे में भारत-पाक मैच पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. 
 
वीरभद्र सिंह ने कहा है कि हिमाचल की सरकार इस मैच के लिए सुरक्षा मुहैया नहीं करा सकती. उन्होंने कहा, ‘हाल ही में जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमलों में हिमाचल के जवान शहिद हुए है. ऐसे में भारत-पाकिस्तान का यह मैच नहीं होना चाहिए. खासकर धर्मशाला में तो बिल्कुल भी नहीं. यह प्रदेश के लोगों की इच्छा के खिलाफ होगा.’
 
इस बीच इंडिया न्यूज के एडिटर-इन-चीफ दीपक चौरसिया की भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव अनुराग ठाकुर से खास बातचीत हुई.
अनुराग ने कहा कि मामले पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए.
 
उन्होंने कहा कि हमे तिरंगे के अपमान से बचना चाहिए. अगर यह मैच नहीं होगा तो इससे देश की प्रतिष्ठता पर भी सवाल उठेंगे. 
 
हिमाचल को बदनाम नहीं होने दूंगा
 
भारत-पाक के बीच इस मैच को लेकर किसी तरह का हल न निकलने की स्थिति पर अनुराग ने कहा कि हिमाचल का नाम बदनाम नहीं होने दूंगा और अगर इसके लिए मुझे कोई भी पद छोड़ना पड़ेगा तो मैं छोड़ दूगा. मामले पर सीएम को फिर से विचार करना चाहिए.
 
इंडिया न्यूज से खास बातचीत में अनुराग ने कई महत्वपूर्ण विषयों पर बात की. उन्होंने इस मामले को लेकर निवेदन किया कि जो लोग होने वाले इस मैच का विरोध कर रहे हैं, उन्हें खेल पर राजनीति नहीं करनी चाहिए.