नई दिल्ली. इशरत जहां एनकाउंटर मामला फिर से सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. दायर की गई याचिका में कथित एनकाउंटर केस में आरोपी गुजरात पुलिस अफसरों के खिलाफ केस को रद्द करने की मांग की गई है.

याचिका में कहा गया है कि हेडली के बयान के बाद यह साफ हो गया है कि इशरत लश्कर की आतंकी थी. सुप्रीम कोर्ट इस याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया है.

वहीं, इस मामले पर इशरत जहां मामले को लेकर राज्यसभा में जोरदार हंगामा जारी है. सरकार कांग्रेस को घेरने की कोशिश कर रही है. पूरा विवाद पूर्व गृह सचिव जीके पिल्लई के बयान से खड़ा हुआ है. पिल्लई ने हाल ही में दावा किया था कि तत्कालीन गृह मंत्री पी चिदंबरम के कहने पर इशरत से जुड़ा एफ़िडेविट बदल दिया गया था.