नई दिल्ली. स्मृति ईरानी के बयानों पर उठा हंगामा अभी थमा भी नहीं है कि केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री रामशंकर कठेरिया अपने बयान से विवादों में आ गए हैं. सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया जिसकी वजह से राज्यसभा और लोकसभा को थोड़ी देर के लिए स्थगित करना पड़ा.

संसद में विपक्ष के सदस्यों ने ‘हमें न्याय चाहिए’ के नारे लगाए. कांग्रेस ने रामशंकर कठेरिया के बयान को लेकर दोनों सदनों में काम रोको प्रस्ताव दिया है.

क्या कहा था कठेरिया ने

कठेरिया ने एक भाषण में हिन्दुओं को अपनी ताकत दिखाने के लिए ललकारा था. आगरा में एक वीएचपी नेता की हत्या के बाद श्रद्धांजलि सभा में शरीक होने पहुंचे कठेरिया यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि प्रशासन ये न समझे की मंत्री बनने से मेरे हाथ बंध गए हैं, वे भी कभी लाठी-डंडा लेकर चलते थे.

स्मृति के बयान पर भी हंगामा

वहीं रोहित वेमुला की खुदकुशी के मामले में संसद में गलतबयानी कर स्मृति ईरानी विपक्ष के निशाने पर आ गई हैं. विपक्ष आज उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव ले आया है. विपक्ष का आरोप है कि स्मृति ईरानी ने रोहित वेमुला मामले में संसद को गुमराह किया है.

विपक्ष स्मृति ईरानी से माफी मांगने की मांग कर रहा है. सोमवार को जब वित्त मंत्री जब बजट भाषण पढ़ने के लिए खड़े हुए तो विपक्ष ने अपने विशेषाधिकार हनन नोटिस की स्थिति जानने के लिए हंगामा भी किया हालांकि स्पीकर ने अभी इस नोटिस पर कोई फ़ैसला नहीं लिया है.