इस्लामाबाद. पाकिस्तान में प्रकाशित एक नई पुस्तक में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन से धन लेने का आरोप लगाया गया है.

डॉन ऑनलाइन में सोमवार को प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तानी खुफिया संगठन, इंटर सर्विसिस इंटेलिजेन्स (आईएसआई) के एक पूर्व अधिकारी की पत्नी शमामा खालिद ने अपनी पुस्तक ‘खालिद ख्वाजा: शहीद-ए-अमन’ में लिखा है कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग के प्रमुख नवाज शरीफ को बेनजीर भुट्टो की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के विरुद्ध चुनाव लड़ने के लिए ओसामा बिन लादेन ने धन दिया था.

किताब में कहा गया है, ‘जिया-उल-हक के शासन के अंत के बाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के प्रमुख शरीफ ने बेनजीर भुट्टो के नेतृत्व वाली पीपीपी से चुनाव लड़ने के लिए अलकायदा के संस्थापक ओसामा बिन लादेन से धन लिया था.’

शरीफ ने पाकिस्तान में इस्लामी व्यवस्था लागू करने का संकल्प लिया था, जिससे आईएसआई के एक अधिकारी खालिद ख्वाजा और बिन लादेन आकर्षित हुए थे, लेकिन लादेन द्वारा शरीफ को भारी धनराशि देने के बावजूद सत्ता में आने के बाद वह अपने सभी वादों से मुकर गए.

पुस्तक में आईएसआई के पूर्व महानिदेशक, अवकाश प्राप्त लेफ्टिनेंट जनरल हामिद गुल की एक टिप्पणी भी शामिल की गई है. गुल ने भी कहा है कि ख्वाजा किसी समय नवाज शरीफ के बहुत करीबी थे.

किताब में कहा गया है कि अलकायदा के संस्थापक सदस्य अब्दुल्ला आजम ने ओसामा बिन लादेन से ख्वाजा की पहचान कराई थी. आजम को वैश्विक जिहाद के जनक के रूप में भी जाना जाता है. वह फिलिस्तीनी सुन्नी थे.