नई दिल्ली. सोमवार को संसद में बजट पेश करने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. कॉन्फ्रेंस में जेटली ने बजट से जुड़ी हुई कई महत्वपूर्ण जानकारियां साझा करते हुए बताया कि 2016 आम  बजट का मुख्य उद्देश्य देश के ग्रामीण क्षेत्र का विकास करना है.
 
जेटली ने बजट को आम आदमी का बजट बताया है. इसके साथ ही बैंकिंग सेक्टर पर बात करते हुए उन्होंने इस सेक्टर के विकास पर भी जोर दिया है. उन्होंने कहा कि देश के बैंकिग सेक्टर को फिर से जीवित करने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘बजट का तत्काल एजेंडा देश के बैंकिंग सेक्टर को पुनर्पूंजीकरण के द्वारा मजबूत करना है’.  
 
जेटली ने गांव के विकास पर बात करते हुए कहा कि भारत को आगे बढ़ाने के लिए कृषि क्षेत्र, भौतिक बुनियादी ढांचे और ग्रामीण क्षेत्र तीनों का विकास करना है. उन्होंने आगे कहा, ‘यह देखना जरूरी है कि हम किस तरीके से ग्लोबल प्रभाव से बचते हुए अपनी क्षमताओं का सही और अधिक से अधिक उपयोग कर सकते हैं’.
 
भारत के टेक्स सिस्टम पर जेटली ने कहा भारत सरकार टैक्स सिस्टम को सरल बनाने के लिए लगातार प्रयासरत है. उन्होंने आगे कहा कि कोई और सरकार ने अभी तक टैक्स सिस्टम को आसान बनाने के लिए उस तरह से काम नहीं किया था जैसा हमारी सरकार ने किया है. 
 
बता दें कि सोमवार को संसद में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट पेश किया और उसके बाद जेटली ने प्रेस कान्फ्रेंस की. पत्रकारों से की बातचीत में जेटली ने ये बातें कही.