नई दिल्ली. वित्त मंत्री अरुण जेटली संसद में आम बजट पेश कर रहे हैं. जेटली ने आम बजट 2016 में देश के स्वास्थय का ख्याल रखने की कोशिश की है. जेटली ने प्रति परिवार एक लाख रुपए के हेल्थ कवर का प्रावधान किया गया है. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार को पूर्व सरकार से खराब अर्थव्यवस्था विरासत में मिली है. हमारा विश्वास इस सिद्धांत में है कि सरकार के पास जो पैसा है वो जनता का है. एक स्वास्थ्य बीमा योजना की घोषणा की जा रही है जिसमें एक तिहाई आबादी को सुरक्षा मिलेगी. 
 
 जेटली ने कहा है कि मोदी सरकार स्वास्थ्य संबंधी नई योजना ला रही है. इसके तहत हर परिवार को एक लाख तक की मेडिकल सुविधाएं दी जा सकेंगी. अरुण जेटली ने जन औषधि योजना के लिए 2016-17 में 300- दवाई की दुकानें शुरू करने का ऐलान किया है. जेटली ने आगे कहा कि अरुण जेटलीडिजिटल लिट्रेसी स्कीम के तहत 6 करोड़ ग्रामीण देशवासियों को जोड़ा जाएगा. 
 
वित्त मंत्री ने राष्ट्रीय डायलिसिस सर्विस प्रोग्राम की घोषणा की है. इसे नेशनल हेल्थ मिशन के अंतर्गत ही चलाया जाएगा. डायलिसिस मशिनों को सस्ता करने की घोषणा की गई है. सभी जिलों में डायलिसिस केंद्र खोले जाएंगे. लोगों को सस्ती दवाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत 3500 मेडिकल स्टोर खोले जाएंगे. 
 
जेटली ने कहा कि पीएम जन औषधि योजना के तहत 300 जेनरिक ड्रग स्टोर खोले जाएंगे. इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए कुल 2,21,246 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है. सस्ती दवा के लिए देशभर में 30 हजार दुकान खुलेंगी.