नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस कमिश्नर बी.एस. बस्सी का सोमवार को दफ्तर में आखिरी दिन है. पुलिस बल में 39 साल सेवाएं देने वाले बस्सी के सम्मान में दिल्ली पुलिस मुख्यालय में फेयरवेल पार्टी आयोजित की गई है.

कौन हैं आलोक वर्मा

वरिष्ठता को ध्यान में रखते हुए आलोक कुमार वर्मा को दिल्ली पुलिस आयुक्त की कमान सौंपी जाएगी. गृह मंत्रालय से उन्हें हरी झंडी दी है. आलोक वर्मा 1978 बैच के अफसर हैं.

वर्मा तिहाड़ से जुड़ी तमाम समस्याओं को सुधारने के लिए चर्चा में रहे हैं. आलोक वर्मा साल 2012 में हुए दिल्ली गैंगरेप मामले में भी चर्चा में रहे हैं. दिल्ली के नए सीपी का पद संभालने के वाले दावेदारों में वर्मा का नाम सबसे ऊपर चल रहा था. वर्मा दिल्ली पुलिस में क्राइम ब्रांच और नई दिल्ली रेंज में ज्वॉइंट सीपी और डीसीपी (साउथ डिस्ट्रिक) के तौर पर रहे हैं.