मुरथल. मुरथल में एक महिला ने गैंगरेप का मामला दर्ज कराया है. उसने 7 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. जानकारियों के अनुसार महिला के साथ 22-23 फरवरी को गैंगरेप हुआ था.
 
महिला का आरोप है कि गैंगरेप में उसका देवर और जेठ भी शामिल थे और वह हरिद्वार से दिल्ली आ रही थी. महिला के अनुसार जब वह बस से उतकर ऑटो पकड़ रही थी उसी दौरान उसके साथ यह हादसा हुआ है. हालांकि गैंगरेप के मुरथल कांड से जुड़े होने की पुष्टि नहीं हुई है.
 
जिस वक्त महिला हरिद्वार से दिल्ली आ रही थी उस समय उसके साथ उसकी 15 साल की बेटी भी थी. मामले पर डीआईजी का कहना है कि मामले की जांच चल  रही है. डीआईजी का कहना है कि महिला ने पारीवारिक विवाद न होने से भी इन्कार किया है.
बता दें कि जाट आरक्षण आंदोलन की आड़ में मुरथल के पास नेशनल हाईवे-1 पर लगे जाम के दौरान महिलाओं के साथ गैंगरेप की खबर सामने आई. यह भी कहा जा रहा है कि 30 से अधिक बदमाशों ने एनसीआर की तरफ जाने वालों को रोका, उनके वाहनों को आग लगाई.
 
कई लोग जान बचाकर भागे, लेकिन कुछ महिलाएं नहीं भाग पाईं. उनके कपड़े फाड़ दिए गये और उनके साथ बलात्कार किया गया. इस खौफनाक वारदात की पीड़ित महिलाएं तब तक खेतों में पड़ी रहीं जब तक कि उनके पुरुष रिश्तेदार और गांव हसनपुर और कुराड के लोग कपड़े और कंबल लेकर नहीं आ गए.