नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय (जेएनयू) में फिर से विवादित पोस्टर लगाए गए हैं. इन विवादित पोस्टर के जरिए आतंकवादी अफजल गुरु की फांसी का विरोध किया गया और लिखा गया है कि अफजल की फांसी न्यायिक हत्या है. इस बीच पोस्टर में यह भी लिखा गया है कि अफजल पर नारों से बहस भटक गई है. 
 
आरएसएस पर किया हमला
 
पोस्टर के जरिए आरएसएस पर हमला कर तीखी बाते लिखी गई हैं. पोस्टर लगे है कि जेएनयू पर हमला आरएसएस की नीति का हिस्सा है साथ ही आरएसएस शिक्षा का भगवाकरण करना चाहती है.
 
इस बीच राष्ट्रवाद पर भी पोस्टर लगाए गए जिसमें लिखा गया कि आजकल देश में राष्ट्रवाद नाम की बीमारी फैल रही है और हिंदुत्व के धागे से राष्ट्रवाद को जोड़ने की कोशिश की गई है.
 
विवादित पोस्टर में यह भी लिखा गया है कि कश्मीरी, नागालैंड, तमिलनाडु और असम के लोगों के लिए भारत एक जेल है. हालांकि पोस्टर में किसी भी संगठन का नाम नहीं लिया गया.