नई दिल्ली. भारत के रक्षामंत्री मनोहर पर्रीकर ने कहा है कि अगर भारत सियाचिन से सेना हटा लेगा तो पाक उस पर कब्जा कर सकता है. लोकसभा में पूरक प्रश्नों के जवाब में पर्रिकर ने यह बात कही. उन्होनें कहा, ‘हम पाकिस्तान पर भरोसा नहीं कर सकते. अगर हम सियाचिन ग्लेशियर से सेना को हटाते हैं तो पाक उस पर कब्जा कर सकता है और अगर ऐसा होता है तो यह भारत के लिए खतरनाक होगा’.
 
पर्रिकर ने 1984 के सियाचिन विवाद को याद करते हुए कहा कि हम पहले भी कई जिंदगी खो चुके हैं. उन्होनें कहा, ‘सियाचिन के सबसे ऊंचे प्वाइंट साल्टोरो पर इंडियन आर्मी तैनात है और यह पोजिशन स्ट्रैटेजिक तौर पर काफी महत्वपूर्ण है’. 
 
रक्षामंत्री ने भारत के जवानों के साहस को सलाम करते हुए कहा, ‘मैं भारतीय सैनिकों को सलाम करता हूं, लेकिन हमें अपनी पोजिशन बरकरार रखनी होगी’. उन्होनें कहा कि सियाचिन ग्लेशियर के सर्वोच्च स्तर पर साल्टोरो दर्रा है जो 23 हजार फुड की ऊंचाऊ पर स्थित है. हमारे सैनिक वहीं पर तैनात हैं. अगर हम सेना हटाते हैं तो दुश्मन उन मोर्चों पर कब्जा कर लेंगे. जिसका देश की सुरक्षा पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा.
 
बता दें कि 3 फरवरी को सियाचिन ग्लेशियर के साल्टोरो दर्रे पर आर्मी कैंप के पास आए एवलांच तूफान से 9 सैनिकों की बर्फ मे दबकर मौत हो गई थी. एक जवान हनुमंथप्पा कुछ दिन बाद जिंदा निकाला गया था. लेकिन बाद में दिल्ली अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी. एवलांच के बाद पाकिस्तान ने भारत को ऑफर किया था कि यदी भारत चाहे तो आपसी रजामंदी से दोनों देश सियाचिन से सेना हटा सकते हैं. लेकिन भारत ने पाकिस्तान के ऑफर को उसी वक्त ठुकरा दिया था.