लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक स्टूडेंट के सुसाइड का मामला सामने आया है. मामला BNCET कॉलेज का है जहां बीटेक कर रहे स्टूडेंट लवकेश ने HOD से परेशान हो कर सुसाइड का कदम उठाया.
 
लवकेश ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसमें लिखा है, “मैं लवकेश मिश्रा अपने पूरे होश में सुसाइड लेटर लिख रहा हूं. मैं मरना नहीं चाहता, लेकिन अब मैं और ये प्रेशर बर्दास्त नहीं कर सकता. भैया मेरे सुसाइड करने की वजह सिर्फ और सिर्फ मेरे ब्रांच के एचओडी दीपक असरानी हैं, जो कम्यूहीं टर साइंस के टीचर हैं. उनकी प्रताड़ना से मैं आत्महत्या कर रहा हूं.’ नोट के आखिर में छात्र ने लिखा कि, ‘मेरी मौत का जिम्मेदारी सिर्फ एचओडी है. पापा मैं माफी चाहता हूं कि आप की उम्मीटदों को मैं पूरा नहीं कर सका. आई एम सॉरी, लोकेश मिश्रा.’
 
छात्र ने सुसाइड नोट पढ़कर अपने मोबाइल में रिकॉर्डिंग भी की. इसके बाद अपनी बड़ी मां की साड़ी का फंदा बनाकर फांसी पर झूल गया.
 
पुलिस ने उठाया कदम
 
पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. थाना प्रभारी मडियांव संतोष कुमार सिंह ने बताया कि छात्र के परिजनों की तहरीर के आधार पर एचओडी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. आरोपी एचओडी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.
 
गरीब किसान है पिता
 
जानकारी के अनुसार, लवकेश आजमगढ़ का रहने वाला था. उसके पिता ओमप्रकाश मिश्रा एक किसान हैं. लोकेश मडियांव के श्रीनगर कॉलोनी में एसके दतवाल के किराए के मकान में रहकर बीटेक की पढ़ाई कर रहा था. मकान मालिक दिल्ली में रहते हैं.
 
छात्र के पिता ओम प्रकाश मिश्रा एक किसान हैं. उसी मकान में रहने वाले किराएदार सत्यप्रकाश श्रीवास्तव अपने भतीजे प्रतीक के साथ रहते हैं. उन्होंने छात्र का शव फंदे से लटका देखा तो पुलिस को सूचना दी.