नई दिल्‍ली. देशद्रोह के आरोपों का सामना कर रहे है जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की जमानत अर्जी पर सुनवाई कल तक के लिए टल गई है. हाईकोर्ट ने पुलिस से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है. वहीं दिल्ली पुलिस ने आज कन्हैया की बेल का विरोध किया है जिस पर पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने कहा, अब हालात बदल गए हैं. कन्हैया की बेल का असर जांच पर पड़ेगा.

हाईकोर्ट ने क्या कहा ?

दिल्ली हाईकोर्ट ने मामले की सुनवाई के दौरान कहा कि जब तक स्टेटस रिपोर्ट नहीं दी जाती तब तक सुनवाई नहीं करेंगे. इस पर दिल्ली पुलिस ने कहा कि कन्हैया ने याचिका की कॉपी दिल्ली सरकार को दी न कि हमें. दिल्ली पुलिस ने यह भी कहा कि इन्होंने आरोपपत्र दाखिल करने के पहले ही ज़मानत अर्जी दाखिल कर दी है. मामले की जांच अभी चल रही है और कई सारे दस्तावेज सील कवर में आएंगे.

वहीं दिल्ली सरकार ने कहा कि इन लोगों ने लक्ष्मण रेखा पार कर ली है. ये आखिर बहस कैसे कर रहे हैं ? इस पर दिल्ली हाईकोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि हम आपकी व्यक्तिगत समस्याओं को समाधान करने नहीं बैठे हैं. दिल्ली सरकार ने कहा कि स्टेट्स रिपोर्ट खुद कमिश्नर ऑफिस फ़ाइल करे, क्योंकि बस्सी ने अपने एक बयान में कहा था कि वह जमानत का विरोध नहीं करेंगे.

हाईकोर्ट की सुरक्षा बढ़ी

कन्‍हैया की जमानत याचिका पर सुनवाई के चलते हाईकोर्ट की सुरक्षा बढ़ाई गई, क्योंकि इससे पहले पटियाला हाउस अदालत में जब कन्हैया कुमार को लाया गया था तो वकीलों द्वारा मारपीट व बदसलूकी और हिंसक घटनाएं हुई थीं.

क्या है मामला

कन्हैया कुमार को राष्ट्रद्रोह के आरोप में जेएनयू में संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की फांसी के खिलाफ आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान 12 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था.