नई दिल्ली. देशद्रोह में आरोपी उमर खालिद और अन्य आरोपी दिल्ली हाईकोर्ट जाने की तैयारी में हैं. वे आज याचिका दाखिल कर सकते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक अपनी याचिका में वह हाईकोर्ट से सुरक्षा और कोर्ट में ही समर्पण करने की मांग करेंगे. उन्होंने कन्हैया कुमार के साथ पटियाला हाउस में हुए हंगामे को आधार बनाया है. सोमवार को तकनीकी ग्राउंड पर याचिका दाखिल नहीं हो पाई थी.
 
कमिश्नर बीएस बस्सी ने मांगा सबूत
 
इससे पूर्व दिल्ली पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने कहा है कि देशद्रोह का आरोप झेल रहे जेएनयू छात्रों को अगर लगता है कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया तो उन्हें सबूत देने होंगे.
 
 
डॉक्टर्ड वीडियो का इस्तेमाल कर फंसाया गया
 
इन छात्रों पर संसद हमले के दोषी अफजल गुरु के समर्थन में आयोजित एक कार्यक्रम में भारत विरोधी नारे लगाने के आरोप हैं. इन छात्रों ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया बल्कि ‘डॉक्टर्ड वीडियो’ का इस्तेमाल कर उन्हें फंसाया गया.
बता दें कि इस मामले के छह मुख्य आरोपी घटना के बाद से फरार थे. जिसके बाद पुलिस ने इन छात्रों की तलाश में महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों में दबिश दी थी. इसी मामले में आरोपी जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया था जो कि फिलहाल जेल में है.