चंडीगढ़. हरियाणा में जारी हिंसक जाट आंदोलन के बीच पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के सहयोगी प्रोफेसर विरेंद्र और खाप नेता के बीच बातचीत का एक ऑडियो टेप सामने आया है. इसमें कथित तौर पर आंदोलन को भड़काने को लेकर बातचीत की गई है. इस बीच, हरियाणा सरकार ने मामले की जांच कराने की बात कही है.
 
प्रोफेसर वीरेंद्र ने भी स्वीकार किया है कि आॠडियो टेप में सुनाई दे रही है आवाज उनकी है, लेकिन बातचीत के विषय में छेड़छाड़ की गई है. उन्होंने कहा, खाप नेता कैप्टन मान सिंह के साथ फोन पर की गई बात में जाटों या किसी और को भड़काने की कोई बात नहीं है. वैसे भी यह बातचीत काफी पुरानी है और मौजूदा आंदोलन से उसका कोई लेनादेना नहीं है. प्रोफसर वीरेंद्र ने कहा, इसमें मैं शांति बनाए रखने की बात कर रहा हूं. प्रदेश कांग्रेस ने प्रोफेसर वीरेंद्र को नोटिस जारी कर सफाई देने को कहा है.
 
हरियाणा के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता अजय सिंह यादव ने कहा कि इस मामले की सीबीआई जांच करानी चाहिए और जो भी दोषी हो उसे सख्त सजा दी जानी चाहिए. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि यह स्पष्ट तौर पर नागरिकों के खिलाफ साजिश है और मामले शामिल लोगों की सीबीआई जांच होनी चाहिए.
 
 हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि हमें आशंका थी कि कुछ ताकतें हिंसा को भड़का रही है. राजनीतिक हित के लिए कोई इनका निर्देशन कर रहा है. हमारी सरकार इस पूरे मामले की जांच करेगी और जो भी दोषी होगा, उसे छोड़ा नहीं जाएगा. हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम विलास शर्मा ने कहा कि इसमें साजिश की बू आती है. इसलिए इस पूरे प्रकरण की कानून के मुताबिक जांच की जाएगी.