वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी सोमवार को वाराणसी पहुंचे हैं. यहां सुंदरपुर में केजरीवाल को बीजेपी कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ा. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल को काले झंडे दिखाए. इसी बीच, जौनपुर से आम आदमी पार्टी (आप) के लगभग 100 समर्थक बाइक से एयरपोर्ट की ओर जा रहे थे, जिन्हें पुलिस ने रोकने का प्रयास किया. इसे लेकर उनके बीच हल्की नोंकझोक हुई.
 
पार्टी कार्यालय भी जाएंगे केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का बाबतपुर एयरपोर्ट पर कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी से स्वागत किया. केजरीवाल सड़क मार्ग से संत रविदास मंदिर जाएंगे. केजरीवाल यहां लगभग पांच घंटे रहेंगे. संत रविदास मंदिर में दर्शन करने के बाद वह लोगों से भी मिलेंगे. वह नेवादा स्थित पार्टी कार्यालय जाएंगे और वहां कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे. 
 
यूपी और पंजाब चुनाव की तैयारी
दरअसल, संत रैदास जयंती समारोह में सबसे अधिक अनुयायी पंजाब से आते हैं और संसदीय चुनाव में मोदी लहर के बाद भी आप के चार प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है. ऐसे में अरविंद केजरीवाल को पंजाब में होने वाले चुनाव में अच्छी जीत मिलने की उम्मीद है. इसके साथ ही यूपी में चुनाव लडने की जमीन भी तैयार हो जाएगी. बीजेपी की निगाहें भी दोनों जगहों के चुनाव पर लगी है इसलिए पार्टी अपने स्टार प्रचारक और पीएम मोदी को संत रैदास जयंती के बहाने दलित वोट बैंक को साधने के लिए समारोह में भेज रही है.
 
लोकसभा चुनाव में थे दोनों नेता आमने-सामने
बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में दोनों नेता आमने-सामने थे. लेकिन जीत मोदी को मिली थी. दलित वोट बैंक पर वैसे तो बीएसपी की भी नजर रही है. हालांकि, पंजाब में उसकी पकड़ बीजेपी जितनी मजबूत नहीं है. इससे पहले मोदी जनवरी में लखनऊ आए थे. इस दौरान उन्होंने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर यूनवर्सिटी की कन्वोकेशन सेरेमनी में शिरकत की थी. इस सेरेमनी में कुछ स्टूडेंट्स ने मोदी का विरोध भी किया था.