नई दिल्ली. जाट आरक्षण की आग में सुलग रहे हरियाणा में शांति के लिए संजीव बालियान समेत यूपी और दिल्ली के करीब 50 जाट नेता शनिवार शाम गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिलने के लिए पहुंचे.

मुलाकात में राजनाथ सिंह ने रविवार शाम तक जाट आरक्षण को लेकर उच्चस्तरीय कमेटी बनाने का भरोसा दिलाया है. उन्होंने सबसे शांति बनाए रखने की अपील की.

इससे पहले, दिल्ली में केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता संजीव बलियान, ओपी धनकर, चौधरी बिरेंद्र सिंह, राम लाल और अमित जैन ने इस मसले को लेकर बैठक की है. संजीव बलियान ने आंदोलनकारियों से अपील की है कि वे अपने घरों को लौट जाएं और शांति बनाए रखें.

राज्य में व्यापक विरोध प्रदर्शन के परिणामों को लेकर पार्टी चिंतित है, क्योंकि यह समुदाय पश्चिमी उत्तर प्रदेश, राजस्थान और दिल्ली के कुछ हिस्सों में अपना प्रभाव रखता है. शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पार्टी के जाट चेहरों से अलग-अलग बातचीत की और इस मामले को शांति कायम करने के संभावित उपायों पर विचार-विमर्श किया.