नई दिल्ली. भारत दौरे पर आए नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली ने कहा है कि हाल के दिनों में दोनों देशों के बीच जो ग़लतफ़हमी हो गई हैं, वो अब दूर हो गई हैं. पीएम ओली ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात की. 
 
मोदी ने कहा कि नेपाल में लागू नए संविधान की सफलता आम राय और संवाद पर निर्भर करेगी. उन्होंने कहा कि भारत हमेशा नेपाल में शांति और विकास चाहता है. नेपाल में नए संविधान को लेकर तराई इलाक़े में भारतीय मूल के मधेसियों के विरोध के चलते भारत और नेपाल के बीच ख़ासा तनाव रहा.
 
नेपाल ने भारत पर आर्थिक नाकेबंदी का आरोप लगाया था, जिसे भारत हमेशा से ख़ारिज करता रहा है. शनिवार को ओली और मोदी की मुलाक़ात के दौरान दोनों देशों के बीच परिवहन और बिजली समेत कई क्षेत्रों में नौ सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर हुए.
 
इसमें 25 करोड़ डॉलर यानी लगभग 17 अरब रुपए की मदद भी शामिल है जो पिछले साल आए भूकंप के बाद पुनर्निर्माण के कामों पर ख़र्च होगा. ओली ने कहा कि भारत हमेशा नेपाल का नज़दीकी दोस्त रहेगा और दोनों देशों के बीच हाल के महीनों में जो ग़लतफ़हमियां पैदा हो गई थीं, वो अब नहीं हैं