चंडीगढ़. हरियाणा में जाट आंदोलन पर डीजीपी वाय पी सिंघल ने कहा है कि आंदोलन बड़े स्तर पर जा रहा है. आंदोलनकारियों से बातचीत की पहल नाकाम रही है. उन्होंने बताया कि अब तक कुल 129 मुकदमे दर्ज हुए हैं. 5 लोगों की गिरफ्तारी भी हुई है. हम युवाओं से अपील करते हैं कि वे इस आंदोलन का हिस्सा न बनें और अपने साथियों को भी इस आंदोलन में हिस्सा न लेने के लिए भी कहें.
 
बुजुर्गों से अपील
डीजीपी सिंघल ने बुजुर्गों से अपील की है कि वह अपने  बच्चों को आंदोलन में भाग लेने से रोकें. साथ ही डीजीपी ने यह भी कहा कि प्रदर्शनकारी हर जगह सड़के ब्लॉक नहीं कर रहे हैं और कई जगहों पर पुलिस और प्रशासन से बातचीत के बाद शांतिपूर्ण रास्ता भी अख़्तियार भी किया जा रहा है.
 
खाप पंचायत से अनुरोध
डीजीपी सिंघल ने खाप पंचायतों से अनुरोध किया है कि वह ऐसी किसी सभा का आयोजन न करें जिसे देखकर बच्चे या जवान इस आंदोलन का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित हो जाएं. पंचायते अपनी पहली प्राथमिकता कानून-व्यवस्था कायम करने में लगाएं. इस आंदोलन की वजह से किसी को भी नुकसान न हो और राज्य में शांत वातावरण रहे.
 
पैरामिलेट्री की 10 कंपनियां पहुंची
सिंघल ने कहा कि अभी तक पैरामिलेट्री की 10 कंपनियां राज्य में पहुंच चुकी हैं और 23 रास्ते में हैं. बातचीत के जरिए प्रदर्शन को समाप्त करने की कोशिश की जा रही है. पुलिस ने भरोसा जताया है कि इस हिंसा के साजिशकर्ताओं को जल्दी ही पहचान कर ली जाएगी और उन पर सख्त कार्यवाही की जाएगी.
 
‘बीजेपी सांसद के घर पर किया पथराव’
डीजीपी सिंघल ने बताया कि बीजेपी सांसद राजकुमार सैनी के घर पर भी कुछ प्रर्दशनकारियों ने पथराव किया था, लेकिन समय रहते पुलिस वहां पहुंच चुकी है और प्रदर्शनकारियों को वहां से खदेड़ दिया है. उन्होंने बताया कि पुलिस कि पहली प्राथमिकता मामले को शांत कर स्थिती को सामान्य बनाना है.