गुड़गांव. हरियाणा में जाट समुदाय की तरफ से आरक्षण की मांग हिंसा में बदल गई है. देखते ही देखते आरक्षण की मांग एनसीआर तक पहुंच गई है. जिसके बाद प्रशासन ने गुड़गांव में कल स्कूल बंद रखने का फैसला किया गया है.

आरक्षण की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे जाटों का आंदोलन हिंसक होने के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात की है. हिंसा के दौरान पुलिस की कार्रवाई में एक शख्स की मौत हो गई और करीब 21 लोग घायल हो गए हैं.

प्रदर्शनकारी भीड़ ने राज्य के वित्त मंत्री के मकान पर हमला बोल दिया और आगजनी की. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य के लिए अर्धसैनिक बलों की 24 कंपनियां भेज दी हैं. उन्होंने कहा कि यदि वहां जरूरत होगी तो और भी कंपनियां भेजी जाएंगी.

इससे पहले हरियाणा के बीजेपी इंचार्ज अनिल जैन ने कहा कि प्रदर्शनकारियों से मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने अपने बचाव में फायरिंग की जिसमें एक व्यक्ति क मौत हो गई है. इससे पहले आंदोलन के हिंसक हो जाने के कारण स्थानीय प्रशासन ने एहतियात के तौर पर पहले रोहतक और झज्जर में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी है. वहीं, टीवी रिपोर्ट्स के अनुसार, पूरे राज्य में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है.