नई दिल्ली. जेएनयू विवाद में देशद्रोही नारे लगाने के आरोपी उमर खालिद के पिता डॉ. सैय्यद कासिम इलियास ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि खालिद की जान को खतरा है, अगर गृहमंत्री राजनाथ सिंह उसकी सुरक्षा का भरोसा दें तो खालिद सरेंडर कर सकता है. एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में इलियास ने कहा कि खालिद को धर्म की वजह से निशाना बनाया गया है.
 
मीडिया रिपोर्टस में उनके बेटे को आतंकवादी बताने की कोशिश की जा रही है, ये गलत है. उनका बेटा देशद्रोही नहीं हो सकता, वह बड़ी साजिश का शिकार हुआ है. 
 
‘मेरे अतीत की वजह से दी जा रही है सजा’
इलियास ने बताया कि मेरे बेटे को मेरे अतीत की वजह से निशाना बनाया जा रहा है. इलियास का कहना है कि उन्होंने 1985 में सिमी को छोड़ दिया था. उस वक्त तक मेरा बेटा पैदा भी नहीं हुआ था. हां मैं सिमी के साथ जुड़ा हुआ था. लेकिन तब उसके खिलाफ एक भी आरोप नहीं था. इलियास ने आगे कहा कि उमर को मुस्लिम होने सजा दी जा रही है.
 
‘अलग-अलग तरीके से किया जा रहा है ट्रीट’
इलियास ने आरोप लगाया कि उनके बेटे और कन्हैया को अलग-अलग तरीके से ट्रीट किया जा रहा है. उनके मुताबिक, सरकार ‘फूट डालो और राज करो’ की पॉलिसी पर चल रही है. इलियास ने यह भी कहा कि वो उमर और कन्हैया के साथ हैं. लेकिन पुलिस और मीडिया इनके लिए गलत शब्दों का इस्तेमाल कर रही हैं. मेरे बेटे के तो आतंकी गुटों से रिश्ते तक बताए जा रहे हैं.
 
बेटे से की अपील
इसके अलावा इलियास ने अपने बेटे से अपील करते हुए कहा कि वह सामने आकर कानून का सामना करे. साथ ही यह भी बताया कि उन्हें बेटे के सेफ्टी की चिंता सता रही है. अगर उसने देशद्रोही नारे लगाए हैं तो उसे कानून का सामना करना चाहिए.