नई दिल्ली. बीजेपी नेता और केंद्रीय दूरसंचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि उनकी पार्टी के विधायक ओ.पी. शर्मा को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ (जेएनयूएसयू) नेता कन्हैया कुमार की अदालत में पेशी से पूर्व कानून को अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए था और हिंसा का सहारा नहीं लेना चाहिए था. प्रसाद ने कहा कि कानून को शर्मा के खिलाफ अपना काम करने दिया जाए और पार्टी उनके बर्ताव की अनदेखी नहीं कर सकती.
 
एक इंटरव्यू में रविशंकर ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्रों के खिलाफ दिल्ली पुलिस की कार्रवाई को सही बताया और कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार परिसर में किसी भी प्रकार की राष्ट्र विरोधी गतिविधि को बर्दाश्त नहीं करेगी. उन्होंने कन्हैया कुमार के खिलाफ लगे देशद्रोह के आरोप को भी सही ठहराया.
 
बता दें दिल्ली पुलिस ने पिछले गुरुवार को कन्हैया कुमार के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया था. उसे शुक्रवार को तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था. हालांकि उन्होंने भारत विरोधी नारे लगाने के आरोप से इंकार किया है.