नई दिल्ली. जेएनयू में देश विरोधी नारेबाजी के आरोप में दिल्ली पुलिस ने फरार छात्रों की तलाश तेजी से शुरू कर दी है. जिसमें कि जेएनयू मामले का मुख्य आरोपी उमर खालिद भी शामिल है.

इस अभियान के तहत पुलिस ने दिल्ली सहित उत्तर प्रदेश, बिहार, और कश्मीर में कई जगह छापेमारी की. पुलिस के मुताबिक उमर दिल्ली से बाहर कहीं छिपा है. पिछले 9 फरवरी को भारत विरोधी नारेबाजी के बाद उमर कई टीवी कार्यक्रमों में शामिल हुआ था. लेकिन, एफआईआर के तुरंत बाद वो फरार हो गया. इसके अलावा उमर का मोबाइल फोन भी बंद है.

आतंकी संगठनों से है उमर के सम्पर्कदिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस के मुताबिक उमर का कश्मीर के कई आतंकी संगठनों से भी संपर्क है. फोन रिकॉर्ड से भी ये सबूत मिले हैं कि वो पाकिस्तान के कई लोगों के साथ संपंर्क में था. पुलिस का कहना है कि उमर का आईएसआई से किसी तरह का संपर्क है या नहीं वो उसकी गिरफ्तारी के बाद ही साफ हो सकेगा.

JNU मामले की मास्टर माइंड था उमर: कन्हैया

जेएनयू मामले में देशविरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किए गए छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने पुलिस पूछताछ में सनसनीखेज खुलासा किया है. कन्हैया ने बताया कि किया जेएनयू में कार्यक्रम आयोजित करने की योजना उमर ने तैयार की थी.

कन्हैया का कहना है कि उसके कश्मीरी अलगाववादियों से उसके सीधे संबंध हैं और संदिग्ध कश्मीरी युवक उमर से मिलने भी आते थे. इसके अलावा कन्हैया ने बताया कि 9 फरवरी के कार्यक्रम की योजना उमर ने कई महीने पहले बना ली थी.

योजना के तहत 7 फरवरी को जेएनयू परिसर में 10 कश्मीरी युवक आए थे. ये युवक 9 फरवरी को कार्यक्रम में शामिल हुए थे और उन्होंने भारत के टुकड़े करने और अफजल गुरु की शहादत में नारे भी लगाए थे.

कन्हैया के खुलासे के बाद उमर पर पुलिस का शिकंजा और कस सकता है. उमर समेत कई अन्य छात्रों की भी तलाश पुलिस ने कन्हैया के बयान के बाद उमर समेत उन कश्मीरी युवकों की भी तलाश कर रही है जो जेएनयू में 9 फरवरी को आयोजित कार्यक्रम में उमर के साथ देश विरोधी नारेबाजी में शामिल थे. मामले में पुलिस ने कन्हैया कुमार, आशुतोष कुमार, उमर खालिद, अर्निबन भट्टाचार्य, रामा नागा और अनंत प्रकाश के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया है. अन्य आरोपी छात्र फरार हैं.

इसके अलावा पुलिस ने आरोपी छात्रों को जांच में सहयोग करने के लिए जेएनयू प्रशासन को पत्र भी लिखा था. लेकिन अब तक अन्य आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जा सकी है.