नई दिल्ली. जेएनयू मामले में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने संसद हमले के दोषी और फांसी की सजा पा चुके अफजल गुरू के लिए न केवल सम्मान सूचक शब्द ‘जी’ का इस्तेमाल बल्कि यह भी कहा कि अफजल गुरू ने ‘सुप्रीम कोर्ट’ पर हमला किया था.

हालांकि, बाद में सुरजेवाला ने कहा कि उन्होंने अफजल गुरू के लिए गलती से ‘जी’ शब्द का इस्तेमाल कर लिया. उन्होंने कहा कि यह ‘स्लिप ऑफ टंग’ थी. वहीं, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अफजल गुरू को जी कहने पर आपत्ति जताई और कांग्रेस से माफी की मांग की है.

बता दें कि जेएनयू मामले पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधा था. शाह ने कांग्रेस से कई सवाल किए थे. शाह ने कहा है कि इस मामले पर कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस अध्यक्षा को अपना स्टैंड स्पष्ट करना चाहिए.

अमित शाह ने कांग्रेस से पूछा है कि क्या राष्ट्रविरोधी नारे लगाना अभिव्यक्ति की आजादी है ? अमित शाह ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने जेएनयू जाकर अफजल का समर्थन करने वालों का समर्थन किया, इससे बड़ा देशद्रोह क्या होगा.

शाह ने कहा कि कांग्रेस कब तक वोट बैंक की राजनीति करेगी ? जेएनयू विवाद पर कांग्रेस को अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए. शाह ने आगे कहा कि देश के खिलाफ देश विरोधी गतिविधि कभी बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

इससे पहले अमित शाह ने जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) विवाद को लेकर अपने ब्लॉग पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के रवैये पर तीखा हमला बोला. शाह ने कहा कि देश में किसी देश-विरोधी गतिविधि की अनुमति नहीं मिलेगी. उन्होंने अपने ब्लॉग में लिखा, “कोई भी नागरिक यह स्वीकार नहीं कर सकता कि देश के एक प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी में एक आतंकवादी का पक्ष लिया जाए और देश-विरोधी नारे लगाए जाएं.”

शाह ने विपक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा है कि इन नेताओं ने जेएनयू जाकर जो बयान दिए हैं, उससे साबित हो गया है कि इनकी सोच में देशहित जैसी भावना का कोई स्थान नहीं हैं.