नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस की एसआईटी ने वसंत विहार थाने में कांग्रेस के नेता शशि थरूर से उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में लगभग पांच घंटे तक पूछताछ की. पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने में उनकी या फिर उनके किसी भी सहयोगी की भूकिमा को लेकर भी शशि थरूर से सवाल किए गए. पुलिस जांच फिलहाल आत्महत्या के इर्द-गिर्द ही चल रही है.
 
सुनंदा ने नींद की गोलियां क्यों खाईं?
पुलिस का कहना है कि कांग्रेस सांसद शशि थरूर को जांच के लिए शनिवार को वसंत विहार थाने में बुलाया गया था. सुनंदा के शरीर पर मिले जख्म और मौत से एक दिन पहले हुए झगड़े पर भी पुलिस ने सवाल किए. सुनंदा ने अधिक मात्रा में नींद की गोलियां क्यों खाईं, थरूर से इस बारे में भी पुलिस ने पूछताछ की.
 
बता दें कि पिछले साल 13 नवंबर को सुनंदा पुष्कर की विसरा जांच रिपोर्ट में शरीर में किसी तरह के जहर नहीं होने की पुष्टि की गई थी. कुछ अवसाद से संबंधित दवाएं जरूर मौजूद थीं. एसआईटी केस की अंतिम रिपोर्ट 28 फरवरी तक सौंप सकती है. माना जा रहा है कि परिस्थितिजन्य साक्ष्य को ही पूरे मामले में आधार बनाया गया है क्योंकि मेडिकल रिपोर्ट में जहर की बात कहीं नहीं है.
 
कमिश्नर ने की पुष्टी
पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने कांग्रेस सांसद को जांच के लिए बुलाए जाने की पुष्टी की थी. इससे पहले भी राशि थरूर से दो बार पूछताछ हो चुकी है. पुलिस सूत्रों का कहना है कि सवाल-जवाब के दौरान वह पूरी तरह शांत और निरपेक्ष भाव से थे.
 
FBI ने लगाई पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर मुहर 
दिल्ली पुलिस के मुताबिक सुनंदा की मौत जहर की वजह से हुई थी. इस बात का खुलासा एम्स से फाइनल रिपोर्ट मिलने के बाद हुआ था. जहर कौन सा था, ये अभी साफ नहीं है. एफबीआई ने अपनी रिपोर्ट में एम्स की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर मुहर लगाई थी.