नई दिल्ली. बीजेपी ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र नेता की गिरफ्तारी की आलोचना करने वाले राहुल गांधी और विपक्ष के दूसरे नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा है कि वे आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा की भाषा बोल रहे हैं जो शहीदों का अपमान है और जिससे राष्ट्र विरोधी ताकतों का मनोबल बढ़ेगा.

बीजेपी ने दावा किया कि जेएनयू परिसर में कुछ लोगों द्वारा आयोजित किए गए ‘भारत विरोधी’ मार्च की देश भर में निंदा हो रही है लेकिन कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल अपने ‘राजनीतिक द्वेष’ और वोट बैंक की राजनीति के कारण मोदी सरकार को निशाना बना रहे हैं.

बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा कि राहुल गांधी और उनके दोस्त लश्कर ए तैयबा के आतंकी हाफिज सईद की भाषा बोल रहे हैं जिसने जेएनयू में भारत विरोधी कार्यक्रम के समर्थन में ट्वीट किया है.

उन्होंने कहा कि यह हमारे शहीदों और सशस्त्र बलों का अपमान है जो सीमा पर अपने प्राणों का बलिदान करते हैं और इससे राष्ट्र विरोधी ताकतों का मनोबल बढ़ेगा. उन्होंने कहा कि जेएनयू ने कई बुद्धिजीवियों और नौकरशाहों को जन्म दिया है. वहां कुछ लोगों ने भारत विरोधी भाषण दिए. कानून अपना काम कर रहा है. बीजेपी कांग्रेस से अपील करेगी कि वह राजनीतिक कारण से हमारे शहीदों का अपमान ना करे.