कोकराझार. बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कहा कि अगर असम में बीजेपी की सरकार बनी, तो पार्टी बांग्लादेश की ओर से होने वाली अवैध घुसपैठ पर नकेल कसेगी. शाह ने असम में जारी अवैध घुसपैठ के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहाराया.
 
उन्होंने कहा कि बीजेपी असम और बोडोलैंड क्षेत्र के लोगों के अधिकारों का उल्लंघन न होने देने के प्रति प्रतिबद्ध है. उन्होंने आगे कहा कि एनडीए सत्ता में आने के बाद बोडोलैंड के लोगों को रोजगार मुहैया कराया जाएगा.
 
अमित शाह बोडोलैंड दिवस के अवसर पर बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) की ओर से आयोजित एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा, “असम के युवाओं को हम ऐसा प्लेटफॉर्म देना चाहते हैं, जहां से वह अपनी शक्ति का विकास कर सकें. असम में ब्रह्मपुत्र जैसी नदी होने के बावजूद राज्य के किसानों को सिंचाई के लिए परेशान होना पड़ता है.” कांग्रेस के वोट बैंक की राजनीति का सहारा लेने के बाद ही असम में अवैध घुसपैठ शुरू हुई. 
 
शाह ने कहा, “अगर असम में बीजेपी-बीपीएफ की सरकार सत्ता में आई, तो हम इस बात का ख्याल रखेंगे कि असम में घुसपैठ न हो.” उन्होंने बीजेपी और बीपीएफ के गठबंधन को ऐतिहासिक बताया और कहा कि यह गठबंधन लंबा चलेगा एवं राज्य व बोडो इलाकों का विकास सुनिश्चित करेगा.
 
शाह ने कहा, “हमने बीपीएफ के साथ मिलकर असम में चुनाव लड़ने का फैसला किया है. यह एक राजनीति फैसला नहीं बल्कि बोडोलैंड के विकास से जुड़ा फैसला है. यह असम के लिए ऐतिहासिक होने वाला है.” उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई पर भी निशाना साधlते हुए कहा कि जिस राज्य में बीजेपी की सरकार है, वहां विकास की बयार बह रही है और असम में 15 साल से कांग्रेस के रहते विकास नहीं हो सका है.